ये अटल भरोसा प्यारे, खाली ना जाएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा….

एक अटल भरोसा ही था, सीता को प्रभु भक्ति पर,
और प्रभु को भी था भरोसा, श्री हनुमत की शक्ति पर,
चाहे लाख बड़ा हो सागर, ये लांघ जाएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा……….

प्रभु नाम का सुमिरन ही तो, विभीषण करता आया,
उस सुमिरन के बल पर ही, हनुमान को सम्मुख पाया,
हर सच्चे भक्त का प्रभु से, ये मिलन कराएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा……….

‘योगी’ सुमिरन की युक्ति, तेरा प्रभु से योग कराए,
खुद रामायण भी भक्तो, हरि नाम महत्व बताए,
इस पावन नाम सहारे, भव पार जाएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर, हनुमान आएगा……….

ये अटल भरोसा प्यारे खाली ना जाएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर हनुमान आएगा,
तू राम नाम का सुमिरन कर हनुमान आएगा……….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह