बालाजी मुझे राम मिलन की आस बता दो कब मिलवाओगे,
बालाजी मुझे राम मिलन की आस बता दो कब मिलवाओगे………

राम रटा था जब शबरी ने,
छोड़ के आए राम नगरी ने,
अरे वो तो रघुनन्दन की दास,
बता दो कब मिलवाओगे…….

सुग्रीव राजा को जाने ज़माना,
तेरे कारण हुआ उस से याराना,
बाली की काट दी साँस,
बता दो कब मिलवाओगे……

रावण को वो भाई विभीषण,
रहा करे था वो दिशा दक्षिण,
हाय वो रहा राम के पास,
बता दो कब मिलवाओगे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह