भगतणी मान ले मेरी बात,
एक बै खाटू नगरी चाल,
श्याम के दर्शन पावैंगे,
जय श्री श्याम, जय श्री श्याम कहते जावैंगे…….

तू छोड़ फिक्र सब चिंता मेरा बाबा मौज करेैगा,
मनै पूरा भरोसा भारी नोटा तेै गोझ भरेगा,
मिलकै धूम मचावैंगे,
जय श्री श्याम, जय श्री श्याम कहते जावैंगे…….

हारे का एक सहारा बाबा का मंदिर प्यारा,
यो सेठ बना दे सबने होजा न्यारा ढंग सारा,
या दुनिया नेै बतावैंगे,
जय श्री श्याम, जय श्री श्याम कहते जावैंगे…….

जब जब या ग्यारस आवेै मनेै याद कसूती आवेै,
सागर नै भजन बनाया दिल झूमेै नाचेै गावेै,
कीर्तन हम करवावैंगे,
जय श्री श्याम, जय श्री श्याम कहते जावैंगे…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह