उसकी नैया कभी डूबे नहीं,
जो श्याम शरण में जायेगा,
ॐ श्री श्याम देवाये नमः
ॐ श्री श्याम देवाये नमः
ॐ श्री श्याम देवाये नमः
ॐ श्री श्याम देवाये नमः

क्यों दर दर भटके तू बन्देया,
एक बार श्याम के दर पे जा,
तेरे सारे दुःख हर लेगा वो,
एक बार भरोसा करके जा,
तेरी आँख के एक एक आंसू को,
फिर श्याम पोंछने आएगा,
उसकी नैया कभी डूबे नहीं,
जो श्याम शरण में जायेगा,
ॐ श्री श्याम देवाये नमः…….

वो कलयुग का अवतारी है,
उसे पूजे दुनिया सारी है,
वो साथ निभाता है सबका,
वो बाबा शीश का दानी है,
जो हार के उसको याद करे,
वो लीले चढ़ कर आएगा,
उसकी नैया कभी डूबे नहीं,
जो श्याम शरण में जायेगा,
ॐ श्री श्याम देवाये नमः…….

तेरी आस जो टूट ना पायेगी,
हर मुश्किल हल हो जायेगी,
क्यों फिकर करे फिर जीवन की,
कोई आंच ना छूने पाएगी,
तू जीवन के हर कदम कदम पर,
श्याम आसरा पायेगा,
उसकी नैया कभी डूबे नहीं,
जो श्याम शरण में जायेगा,
ॐ श्री श्याम देवाये नमः…….

तू चल उठ कदम बढ़ा तो सही,
तू हिम्मत तो दिखला तो सही,
खुद श्याम धणी फिर आएगा,
अपने मन को समझा तो सही,
तेरे श्याम धणी तेरा हाथ पकड़,
खुद खाटू तक ले जायेगा,
उसकी नैया कभी डूबे नहीं,
जो श्याम शरण में जायेगा,
ॐ श्री श्याम देवाये नमः…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह