खाटू की सरकार ओ लखदातार, ओ मेरे बाबा जी,
कर दो बेड़ा पार के अब तो हमारा भी…..

लीले घोड़े वाले बाबा जिसने तेरा नाम लिया,
जिसको ठुकराया दुनिया ने तूने उसको थाम लिया,
मान के अपनी हार खड़ा तेरे द्वार, ओ मेरे बाबा जी,
कर दो बेड़ा पार के अब तो हमारा भी…..

तेरी मोरछड़ी का झाड़ा बाबा जब लग जाता है,
उसपे संकट लौट के बाबा वापस फिर नहीं आता है,
इतना सा उपकार करो एक बार ओ मेरे बाबा जी,
कर दो बेड़ा पार के अब तो हमारा भी…..

शीश को दान में देने वाले कौन तेरा सा दानी है,
कहे बलजीत तेरी तो बाबा अचरज भरी कहानी है,
तेरी जय जयकार करे संसार ओ मेरे बाबा जी,
कर दो बेड़ा पार के अब तो हमारा भी…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह