मुझको राधा रमण, करदो ऐसा मगन,
रटूं मैं तेरा नाम, मैं आठों याम….

करुणानिधान मोपे, कृपा कर रिझिए,
बृज में बसाके मोहे, सेवा सुख दीजिए,
प्रेम से भरदो मन, गाउँ तेरे भजन,
रटूं तेरा नाम, मैं आठों याम….

भाव भरे भूषणो से, आपको सजाऊँ मैं,
निस नव भोज निज, हाथों से पवाऊं मैं,
दाबू तुमरे चरण, करो जब तुम शयन,
रटूं तेरा नाम, मैं आठों याम….

जब भी विहार करो, प्यारी संग सांवरे,
फूल बन जाऊं जहां, धरो तुम पाँव रे,
बनके शीतल पवन, छू लूँ तेरा बदन,
रटूं तेरा नाम, मैं आठों याम….

तुम्हे देख जीऊं तुम्हे, देख मर जाऊं मैं,
जनम जनम तेरा, दास ही कहाऊं मैं,
रख लो अपनी शरण, करदो मन में रमण,
रटूं तेरा नाम, मैं आठों याम….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह