होली खेलन राधे रानी आजा ब्रज की गलियन में,
ऐसो रंग लगाईं दे मो पे जो बस जाए अँखियन में,
अरे होली खेलन राधे रानी……….

लाल गुलाबी नीलो पीलो ना हो रंग बिरंगो,
ऐसो रंग चढ़ाई दो मो पे जो हो प्रेम में रंगो,
होली खेलन राधे रानी……….

तेरे बिन फीको लागे मोहे होली को त्यौहार,
वृंदावन को कण कण राधे राधे करे पुकार,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह