बरसाने में आ गए, नंदगाँव से श्याम,
इधर से राधा आ गई, छोड़ के सारे काम……

होली में हुड़दंग मचावे , आओ राधे प्यारी,
मेरे संग है ग्याल गोपिया ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……….. ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……… ले आओ तुम सारी,
आज तुम्हे ना छोड़ेगी, सखियाँ बरसाने वारी,
हो के खड़ी तैयार सभी हम देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी…..

आज ना छोड़ेगे होली पे, डंग बिगाडे थारो,
हम लठन ते करे स्वागत, यही रिवाज़ हमारो,
पास नही आने दे हमको, हाथ लई पिचकारी,
मेरे संग है ग्याल गोपिया ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……….. ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……… ले आओ तुम सारी……

कई तरह के रंग घुलवाए, आज कन्हैया कारे,
बरसाने की गली गली में, धूम मचावे सारे,
पहले का रंग ना उतरो, मेरी चुनर नई बिगाड़ी
हो के खड़ी तैयार सभी हम देखे बाट तुम्हारी
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी…..

कीच मचेगी बरसाने में, ऐसो रंग बरसावे,
हल्के में नही लेना दूध, छटी को याद दिलावे,
मुख से झड़ते फूल तुम्हारे दाऊ जब मीठी गारी,
मेरे संग है ग्याल गोपिया ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……….. ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……… ले आओ तुम सारी……

तू कान्हा में तेरी राधा, संग मिल खेले होली,
भूलन त्यागी कहे करेगे, खूब आज बरजोरी,
भर रहे गोपी ग्याल जोश में इक दूजे पे भारी,
हो के खड़ी तैयार सभी हम देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी…..

होली में हुड़दंग मचावे , आओ राधे प्यारी,
मेरे संग है ग्याल गोपिया ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……….. ले आओ तुम सारी,
ओ राधे……… ले आओ तुम सारी,आज तुम्हे ना छोड़ेगी, सखियाँ बरसाने वारी,
हो के खड़ी तैयार सभी हम देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी,
सांवरे……… देखे बाट तुम्हारी…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह