तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी पे रीझे श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने भोले के अंगना,
पार्वती तोड़न ना देवे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने गणपत के अंगना,
रिद्धि सिद्धि तोड़न ना देवे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने विष्णु जी के अंगना,
लक्ष्मी जी तोड़न ना देवे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने रामा के अंगना,
सीता जी तोड़न ना देवे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने ब्रह्मा जी के अंगना,
ब्रह्माणी तोड़न ना देवे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

तुलसी को देखा मैंने भक्तों के अंगना,
सखियां भोग लगाए रे, श्याम तुलसी पर मचले,
तुलसी कहां से लाऊं रे श्याम तुलसी पर मचले……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह