मैं तो तेरी हो गई श्याम दुनिया क्या जाने………

चैन चुरा के पगली बनाया,
छोड़ के सब कुछ तुझे अपनाया,
मेरी करदी मेरी करदी,
मेरी करदी नींद हराम ये दुनिया क्या जाने,
मैं तो तेरी हो गई श्याम दुनिया क्या जाने………

शरण में आई गले लगा ले,
मुझको अपनी सेवा में लगा ले,
मैं तो रटू मैं तो रटू,
मैं तो रटू तुम्हारा ना ये दुनिया क्या जाने,
मैं तो तेरी हो गई श्याम दुनिया क्या जाने………

मोर कुटी पे मेरा ठिकाना,
बरसाने में आना जाना,
मैंने जीवन हो मैंने जीवन,
मैं जीवन कर दियो दान ये दुनिया क्या जाने,
मैं तो तेरी हो गई श्याम दुनिया क्या जाने………

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह