भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी,
मेरा भी धन्य जीवन बनाएंगे राम जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी…..

हाथों से रोज राह के कांटे बुहारती,
कांटा लगे ना राम को कोमल है पांव जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी……

डलिया में बेर रोज वह चुन चुन के ला रही,
हो खट्टे चाहे मीठे खाएंगे राम जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी……

आय जभी है राम जी दीवानी हो गई,
बैठाया ना हरी को भूली है काम जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी…..

है खट्टे चाहे झूठे हरी फिर भी खा रहे,
लक्ष्मण ने पीछे फेके देखे ना राम जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी……

द्रोणागिरी वो पहुंचा संजीवनी बना,
लक्ष्मण के लागी शक्ति लाए हनुमान जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी……

भक्तों का मान रखते भगवान है सदा,
भक्तों तुम कीर्तन करो सुबह और शाम जी,
भीलनी सवारे रास्ता आएंगे रामजी……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह