जब वक्त आखरी आएगा परिणाम ना जाने क्या होगा,
परिणाम ना जाने क्या होगा, तेरा हाल ना जाने क्या होगा,
सब उम्र बीत गई धोखे में तेरा हाल ना जाने क्या होगा…..

जिस राम ने सुख धन दान दिया,
नहीं प्रेम से उसका नाम लिया,
जीवन भर पाप तमाम किया,
परिणाम ना जाने क्या होगा…..

हीरा सजीवन खोया है,
तूने मन का महल ना धोया है,
यह बीज पाप का बोया है,
परिणाम ना जाने क्या होगा…..

विषयों में जीवन गवा दिया,
सब झूठ कपट छल किया,
नहीं संत जनों से प्यार किया,
परिणाम ना जाने क्या होगा…..

ना कोई शुभ काम किया,
इस धन से ना कन्यादान किया,
नहीं राम का नाम लिया,
परिणाम ना जाने क्या होगा…..

जब अंत समय तेरा आएगा,
तू पड़ा पड़ा पछतायेगा,
ना कोई साथ निभाएगा,
परिणाम ना जाने क्या होगा…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह