श्री राम की गली में तुम आना,
वहा नाचते मिलेंगे हनुमाना……

उनके तन में है राम उनके मन में है राम,
अपनी आंखो से देखे कण कण मे राम,
श्री राम का है वो दीवाना,
वहा नाचते मिलेंगे हनुमाना,
श्री राम की गली में तुम आना……

ऐसा राम जी से जोड़ लिया नाता,
जब भी देखो उन्ही के गुण गाता,
श्री राम के चरनो में ठिकाना,
वहा नाचते मिलेंगे हनुमाना,
श्री राम की गली में तुम आना…..

उनसे कहना राम राम वो कहेंगे राम राम,
कुछ भी सुनते नही बस सुनेंगे राम राम,
महामन्त्र है भुल ना जाना,
वहा नाचते मिलेंगे हनुमाना,
श्री राम की गली में तुम आना……

इतनी भक्ति वो बनवारी करने लगे,
उनके सिने में राम सिया रहने लगे,
इस कहानी को जानता जमाना,
वहा नाचते मिलेंगे हनुमाना,
श्री राम की गली में तुम आना……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह