आ गया मैं तेरे भोले दरबार,
अब तो दशर्न दे मुझको,
अब तो दशर्न दे मुझको भोले एक सरकार,
बोल बम बोल बम बोल बम बम बम,
आ गया मैं तेरे भोले दरबार……

तेरे जटाओं से गंगा बहती है,
मां गंगा यमुना अब यही तो कहती हैं,
अब यही तो कहती हैं,
शिव नहीं होते तो दुनिया होती बेकार,
आ गया मैं तेरे भोले दरबार….

शिव से बढ़कर और कोई न दूजा है,
देते हैं दशर्न जो दिल से पूजा है,
शिव का नाम जप ले तू जीवन हो साकार
आ गया मैं तेरे भोले दरबार….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी

संग्रह