*रंगी गुब्बारों से मंडप सजाया है
००००००००००
खूब सजी, अयोध्या, पावन दिन आया है
घर घर में, श्री राम का,भगवा लहराया है
मची ,अयोध्या में धूम……३
मस्ती में ,नाच रहे हैं सारे झूम झूम …….
(१)
पांच सौ बरस का, ये, लंबा इंतजार है
सजा श्री राम जी का, यहां दरबार है
सिया लखन के संग में , बैठे श्री राम है
चरणों में राम जी के बैठे हनुमान है
अवध की धरती रही चूम _३ …..
मस्ती में…….

(२)
बन गया मंदिर,सुंदर,मेरे प्रभु राम का
गूंजे जयकारा यहां,राम जी के नाम का
मिलने अपने भक्तो से,चले है राम जी
देखो निकली सवारी, सज के श्री राम की
सारी नगरी रहे है घूम_३……
मस्ती में……

(३)
बजे है ढोल नगाड़े, स्वागत में, श्री राम के
बदले है पल में नजारे,आज,अयोध्या धाम के
आई अयोध्या दुनिया, करने दीदार जी
कुंदन कहता श्वेता से चलो एक बार जी
करने दर्शन को, हम और तुम…..
मस्ती में……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह