तुम हो दयालु ओ बाबा मेरे,
मेरी नईया तेरे हवाले,
ओ आके बचाले भोले, आके बचाले भोले……

हमने देखा है जो तेरा ध्यान लगाते है,
दर्शन वो ही पाते है, जग में नाम कमाते है,
देवो में तुम हो देव निराले,
भक्तो के संकट हरने वाले,
ओ आके बचाले भोले, आके बचाले भोले……

तेरे दर पे बाबा जो भी आ जाते है,
झोली भरके जाते है, जो मांगे वो ले जाते है,
देवो में तुम हो देव निराले,
भक्तो के संकट हरने वाले,
ओ आके बचाले भोले, आके बचाले भोले……

आस लेकर बाबा तेरे दर पे आये है,
सुनाने अर्ज़ी आये है, सब कुछ कहने आये है,
अर्ज़ी यही है, ओ डमरू वाले,
“कंचन” को अपनी दासी बनाले,
ओ आके बचाले भोले, आके बचाले भोले……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा
कूर्म जयंती

गुरूवार, 23 मई 2024

कूर्म जयंती
नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी

संग्रह