सुन मेरे भोले बाबा,
मेरा मन ये तुझमे लागा,
प्रीत अपनी दिखाऊं कैसे,
प्रेम तुझसे छुपाऊं कैसे……

ओ भोले बाबा पहाड़ो के राजा कभी मेरे घर आजा रे,
ओ भोले बाबा पहाड़ो के राजा कभी मेरे घर आजा रे,
पूरी कब ये होंगी ये आशा भोले बाबा,
ओ भोले बाबा पहाड़ो के राजा कभी मेरे घर आजा रे…..

मै तेरी धुन पे हूँ नाचा,
जब तेरा डमरू है बाजा,
ह्रदय की है ताल तुमसे,
मेरी हर एक सांस तुमसे,
पूरी कब ये होंगी ये आशा भोले बाबा,
अरे ओ भोले बाबा पहाड़ो के राजा कभी मेरे घर आजा रे…..

सुन मेरे भोले बाबा,
मेरा मन ये तुझमे लागा,
प्रीत अपनी दिखाऊं कैसे,
प्रेम तुझसे छुपाऊं कैसे……..

चन्द्रमा मे तेज़ तुमसे,
पृथ्वी मे है ओज तुमसे,
सूर्य मे है अगन तुमसे,
मेरे मन की लगन तुमसे,
पूरी कब ये होंगी ये आशा भोले बाबा,
ओ भोले बाबा पहाड़ो के राजा प्रभू मेरे घर आजा रे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह