ॐ भुर्भुवः स्व: तत्सवितुर्वरेण्यं
वर्गो देवस्य धीमही धियो योन: प्रचोदयात ।।

जब चिंता बहुत सताये, तब ॐ नाम का जाप करो,
दु:ख अंत:करण दुखाये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

जब उठने लगे हताश, फैले सब और निराशा,
पल-पल मनवां घबराये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

दिल में उलझन भारी हो, या उथल-पुथल जारी हो,
दिल बात समझ न पाये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

जब अपने ही मुख मोड़े, सब रिश्ते नाते तोड़े,
जन-जन दुश्मन बन जाये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

उमड़े तुफान भयंकर, पथ पर हो कांटे कंकर,
घनघोर अंधेरा छाये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

जंगल पर्वत-सागर में, अग्नि धरती अम्बर में,
जब राह नजर न आये, तब ॐ नाम का जाप करो,
ओउम भूर्वभूवः स्वः….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह