मैंने बड़े बड़े दुख सहे भोले बाबा तेरे लिए,
मैंने दुनिया के बोल सहे भोले बाबा तेरे लिए……

महल दुमहला मैंने सब कुछ छोड़े,
तुमपे पर्वत ना छोड़ो जाए भोले बाबा मेरे लिए…..

भर भर लोटा मैंने दूधों के छोड़े,
तुमपे भंगिया ना छोड़ी जाए भोले बाबा मेरे लिए……

मखमल बिछोना मैंने सब कुछ छोड़ें,
तुमपे मिरगआसन ना छोड़ो जाए भोले बाबा मेरे लिए…….

पूड़ी कचौड़ी को खाना छोड़ो,
लड्डू पेढा को खानों छोड़ो,
तुमपे भांग गोला ना छोड़ो जाए भोले बाबा मेरे लिए……..

संतु सहेली मैंने सब कोई छोड़ी,
तुमपे गंगा ना छोड़ी जाए भोले बाबा मेरे लिए…….

भैया भतीजे मैंने सब कोई छोड़े,
भूत प्रेत ना छोड़े जा भोले बाबा मेरे लिए…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा

संग्रह