आसमान से फूलों की बरसात हो गई,
गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई,
नीलकंठ में फूलों की बरसात हो गई,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई……

गंगा कहे मैं बड़ी यमुना खे मैं बड़ी,
काहे की बड़ी मेरी जटा में पड़ी,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई……

चाँद कहे मैं बड़ा सूरज कहे मैं बड़ा,
काहे के बड़े मेरे माथे पे सजे,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई……

डमरू कहे मैं बड़ा त्रिशूल कहे मैं बड़ा,
काहे के बड़े मेरे हाथों में पड़े,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई……

बाघम्बर कहे मैं बड़ा भभूति कहे मैं बड़ी,
काहे के बड़े मेरे अंगो में बड़े,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई…….

नाग कहे मैं बड़ा नागिन कहे मैं बड़ी,
काहे के बड़े मेरे गले में पड़े,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई…..

संत कहे में बड़ा भक्त कहे मैं बड़ा,
काहे के बड़े मेरे द्वारे पे खड़े,
मेरी मईया जी की शादी भोले से हो गई,
हो गौरा तेरी शादी शंकर से हो गई…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह