हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ,
तीनो लोक में तू ही तू,
श्रद्धा सुमन मेरा मन बेलपत्री,
जीवन भी अर्पण कर दू…..

जग का स्वामी है तू अंतरयामी है तू,
मेरे जीवन की अनमिट कहानी है तू,
तेरी शक्ति अपार तेरा पावन है द्वार,
तेरी पूजा मेरा जीवन आधार,
धुल तेरे चरणों की लेकर,
जीवन को साकार किया,
हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ,
तीनो लोक में तू ही तू……

मन में है कामना और कुछ जानू ना,
जिंदगी भर करू तेरी आराधना,
सुख की पहचान दे तू मुझे दे,
प्रेम सबसे करू ऐसा वरदान दे,
तूने दिया बल निर्बल को,
अज्ञानी को ज्ञान दिया,
हे शम्भु बाबा मेरे भोलेनाथ,
तीनो लोक में तू ही तू……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा
कूर्म जयंती

गुरूवार, 23 मई 2024

कूर्म जयंती
नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी

संग्रह