नमो नमो जय नमः शिवाय,
कितने भोले मेरे शिव है,
करते है कमाल शंकर,
नमो नमो…..

चला था शंकर कथा सुनाने,
अमरनाथ का राज बताने,
पंचरतन को त्याग अपने,
पार्वती को भेद बताने,
कथा को सुनकर अमर हो गया,
इक जोड़ा कबूतर का,
आज भी उड़ते अमरनाथ में,
रूप है गौरी शंकर का,
नमो नमो जय नमः शिवाय……

विस्तार कर दिया जो,
लेख शिवा ने,
अमरनाथ की हवा पहाड़ी,
और गुफा ने,
दिव्य लोक की दिव्य दिशाए,
जपती रहती नमः शिवाय,
नित धरती पर आके शिवा ने,
कल्याण कर दिया हम सब का,
नमो नमो जय नमः शिवाय……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह