निसार इस संसार में शिव नाम केवल सार है,
शिव शक्ति है शिव भक्ति है शिव मुक्ति का आधार है,
शिव पार्थना शिव साधना शिव ध्यान मंग्लाकार है,
शिव अनादि शिव अनंत है इस पार शिव उस पार है,
नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय हर हर भोले नमः शिवाय…..

जय शिव शंकर जय गंगाधर करुणाकर करतार हरे,
जय अविनाशी जय कैलाशी सुखराशी सुखमार हरे,
नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय हर हर भोले नमः शिवाय…..

जय शशि शेखर जय डमरूधर जय जय प्रेमागर हरे,
जय त्रिपुरारी जय मदहारी अमित अनंत अपार हरे,
नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय हर हर भोले नमः शिवाय……

निगरुण जय जय सगुण अनामय निराकार साकार हरे,
पार्वती पति हर हर शम्भो पाहि पाहि दातारी हरे,
नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय हर हर भोले नमः शिवाय…..

नीलकंठ जय भूतनाथ जय मृत्यूनंजय अविकार हरे,
पार्वती पति हर हर शम्भो पाहि पाहि दातारी हरे,
नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय हर हर भोले नमः शिवाय……

जय जय शम्भु जय शिव शम्भु जय जय शम्भु जय शिव शम्भु,
जय जय शम्भु जय शिव शम्भु जय जय शम्भु जय शिव शम्भु,
जय महेश जय जय भवेश जय आदिदेव महादेव विभो,
किस मुख से है गुणगीत प्रभु तव अपार गुण वर्णन हो,
जय जय शम्भु जय शिव शम्भु जय जय शम्भु जय शिव शम्भु….

जय भावकारक तारक हारक पातक दातक शिव शम्भो,
दीन दुःखहर सर्व सुखकर प्रेम सुधाधर की जय हो,
जय जय शम्भु जय शिव शम्भु जय जय शम्भु जय शिव शम्भु…..

पार लगा दो भवसागर से वन कर कर्णधार हरे,
पार्वती पति हर हर शम्भो पाहि पाहि दातारी हरे,
जय जय शम्भु जय शिव शम्भु जय जय शम्भु जय शिव शम्भु…..

करपूर गौरम करूणावतारम,
संसार सारम भुजगेन्द्र हारम,
सदा वसंतम हृदयारविंदे,
भवम भवानी सहितं नमामि,
त्वमेव माता च पिता त्वमेव,
त्वमेव बंधू च सखा त्वमेव,
त्वमेव विद्या द्रविणं त्वमेव,
त्वमेव सर्वं मम देव देव………

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह