हे परमेश्वर दीन दयालु,भीख दया की दे देना,
डोल रही है बीच भँवर मेरी,नैया पार लगा देना,

जब कष्ट पङे तुझे याद करू,ओर अनेक फरियाद करू,
मे शरण आपकी आया हूँ,मुझको भव पार लगा देना ,

कभी सोय रहा हूँ आलस मे,कभी काम कर रहा लालच मे,
सबका लेखा जोखा एक दिन तुझे,देना पङेगा अदालत मे,

माँ बहन पिता पत्नी सारे,मतलब के है रिस्ते सारे ,
सब जाएगे न्यारे-न्यारे,फिर किससे क्या लेना देना ,

धर ले तु मन मे ध्यान सदा,मिट जाएगी सारी विपदा,
कहे सदानन्द हरि भजन करो,दुनियां मे कोई नही अपना,

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह