श्रद्धा से हमने श्री हरि यश को गाना है
हरि नाम की महिमा को जग ने माना है

प्रभु नाम की ज्योति से जग उजियारा है
सूरज चंदा तारों में स्वामी तेज तुम्हारा है

स्नेह छाया में उनकी जीवन यह बिताना है
श्रद्धा से हमने श्री हरि यश को गाना है

दुनियां भँवर इक है हरि नाम किनारा है
जीवन नैया का हरि पतवार सहारा है

झूठें है सब रिश्ते अब हमने जाना है
श्रद्धा से हमने श्री हरि यश को गाना है

हरि नाम की महिमा को जग ने माना है
डाली डाली फूलों में कण कण में समाया है

सबमें प्रभु की माया जिसने संसार रचाया है
मन हो पावन उसमें प्रभु को बिठाना है

श्रद्धा से हमने श्री हरि यश को गाना है
हरि नाम की महिमा को जग ने माना है

स्नेह छाया में उनकी जीवन यह बिताना है
हरि नाम की महिमा को जग ने माना है

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी

संग्रह