गणपति बाप्पा मोरया मंगल मूर्ति मोरया

मंगल तू करता दुखड़े तू हरता,
याहा पहले तुझे ध्याये जो,
सिद्ध काज तू ही उस के है
करता तुझे मन में बसाये जो
लगाये जयकारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा

शिव से वरदान मिला है तुझे जो भी ध्याए गा
मिटेगी सारी बाधायेऐसा वर पायेगा
पायेगा किनारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा
लगाये जयकारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा

जिस पे तू कर देता किरपा गले से लगाता है
दूर दुःख सब हो जाता है भाग्य बन जाता है,
मिलता सहारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा,
लगाये जयकारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा

शुद्ध मन से वंदन तेरा याहा जो भी करता है
उसकी बाधा और संकट सब पल में तू हरता है,
सही को है तारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा

याहा पहले तुझे ध्याये जो,
सिद्ध काज तू ही उस के है
करता तुझे मन में बसाये जो
लगाये जयकारा बोलो जय हो गणपति बाप्पा

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह