माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में,
आओ कीर्तन में तुम आओ कीर्तन में…

मंदिर सजा के करूं वंदन में,
प्यारी प्यारी छवि दिखलाओ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में….

पहले गजानन तुमको मनाऊ,
संग सारे देव बुलाऊँ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में….

सिर पे मुकुट मुसे की सवारी,
ठुमक ठुमक चले आओ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में….

रिद्धी सिद्धी को तुम साथ में लाना,
शुभ और लाभ को लाओ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में….

लड्डू और मोदक भोग धरे है,
आओ आके भोग लगाओ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में….

विनति सुनो अमर की देवा,
भक्तो के काम बनाओ कीर्तन में,
माँ गौरी के लाल आओ कीर्तन में…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महेश नवमी

शनिवार, 15 जून 2024

महेश नवमी
गंगा दशहरा

रविवार, 16 जून 2024

गंगा दशहरा
गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती

संग्रह