बजरंगी तेरी शक्ति की दुनिया दीवानी है……

बालपन में सूर्या देव को मुख में दुबकाया,
मचा जगत में शोर भोर जब अंधियारा छाया,
देवों ने किया गुणगान अंजनी सूत्र वरदानी है,
बबजरंगी तेरी शक्ति की दुनिया दीवानी है……

जब हुआ सिया का हरण आप लंका गढ़ आए थे,
लंका नगरी को फ़ूक दिये रावण घबराए थे,
नहीं बल का पाया पार हार रावण ने मानी थी,
बबजरंगी तेरी शक्ति की दुनिया दीवानी है…….

जब भूमी पे हैं पाप बढ़े तबतब ये आते हैं,
जपते हैं नाम हरी का जो उन्हें पार लगाते हैं,
मेरी डूब रही है नैया अब तो पार लगानी है,
बबजरंगी तेरी शक्ति की दुनिया दीवानी है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह