न चित धरहि कोउ भगवान,
कलयुग में पूजे जय हनुमान,
संकटमोचन जय हनुमान,
भजले पवन पुत्र के गान,
कोरस-न चित धरहि कोउ भगवान,
कलयुग में पूजे जय हनुमान…….

मेंहदीपुर बालाजी में, बाल रूप में आप विराजै,
हनुमान गढ़ी, अयोध्या में, सुंदर मूरत अति साजे,
सालासर हनुमान को देखो जाकर राजस्थान……

चित्रकूट में जाकर देखो दर्शन कर लो हनुमान धारा,
प्रयागराज के लेटी मूरत दर्शन कर लीजे दुबारा,
भेट द्वारका गुजरात मा दर्शन कीजे हनुमान……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह