जरा दर्शन को घाटे चलिए जहां बालाजी महाराज हैं,
संकट वो तेरा काटेंगे, वो तो संकट के काटन हार हैं……

तुम वहां जाओ वो ना मिलेंगे ऐसा कभी नहीं हो सकता,
जो वर मांगो वह नहीं पाओ ऐसा कभी नहीं हो सकता,
मेरे बाबा जगत विख्यात है रख लेंगे वह तेरी लाज है,
संकट वो तेरा काटेंगे……

भैरव बाबा का जाल वहां पर आज फंसे कोई कल फसे,
प्रेतराज का राज वहां पर बच ना सके कोई छीप ना सके,
भक्त कहता पते की बात है तुम सुन लो लगाकर ध्यान है,
संकट वो तेरा काटेंगे……

पत्थर का मंदिर पत्थर की मूरत पत्थर का दिल नहीं हो सकता,
बेटा बुलाए बाबा ना आए ऐसा कभी नहीं हो सकता,
मेरे बाबा की देखो क्या बात है कलयुग के वो अवतार है,
संकट वो तेरा काटेंगे…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह