सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई,
कहां पाई तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

जनकपुरी में तुम्हें कभी नहीं देखा,
16 साल रेह आई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

अवधपुरी में तुम्हें कभी नहीं देखा,
जिस दिन से बिहा के आई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

पंचवटी में तुम्हें कभी नहीं देखा,
12 साल रह आई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

लंकापुरी में तुम्हें कभी नहीं देखा,
जिस दिन से मैं यहां आई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

तुम तो हनुमत छोटे बहुत हो,
कैसे करोगे लड़ाई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई…..

फिर हनुमत ने बल दिखलाया,
सोने की लंका जलाई, अंगूठी तोहे कहां पाई,
सुन अंजनी के लाल अंगूठी तोहे कहां पाई….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

सीता नवमी

गुरूवार, 16 मई 2024

सीता नवमी
मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा

संग्रह