जय जय जय हो पवन पूत हनुमत,
तुम ही हो श्री राम के भक्त।।

सिया राम के काज तुम सवारे,
तेरी जय हो माँ अंजनी दुलारे,
पल में लेकर के संजीवनी पर्वत,
तुम ही हो श्री राम के भक्त,
जय जय जय हो पवन पूत हनुमत…..

बल बुद्धि के दाता बजरंगी,
कर लो विनती स्वीकार महाबली,
ज्ञान के तो भंडार हो हनुमत,
तुम ही श्री राम भक्त हो हनुमत,
जय जय जय हो पवन पूत हनुमत…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा
बुद्ध पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

बुद्ध पूर्णिमा

संग्रह