अंजनी पुत्र, केसरी नंदन,
तेजी प्रताप महा जग के वंदन,
महावीर नाम तुम्हारे,
तेरा भक्त आया तेरे सहारे।।

दर पे तेरे मैं आया हु,
वक़्त का मैं सताया हूँ,
किरपा करो हे हनुमत,
शरण तेरी मैं आया हु,
विनती मेरी स्वीकार करलो,
हे प्रभु मेरी भरदो।।

वीरो के तुम वीर हो तुम महाबली,
कष्टों का करते निवारण,
नाम लेता जो भी हनुमत,
दुखो का करते निवारण,
महावीर नाम तुम्हारे,
तेरा भक्त आया तेरे सहारे।।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

सीता नवमी

गुरूवार, 16 मई 2024

सीता नवमी
मोहिनी एकादशी

रविवार, 19 मई 2024

मोहिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 19 मई 2024

प्रदोष व्रत
प्रदोष व्रत

सोमवार, 20 मई 2024

प्रदोष व्रत
नृसिंह जयंती

मंगलवार, 21 मई 2024

नृसिंह जयंती
वैशाखी पूर्णिमा

गुरूवार, 23 मई 2024

वैशाखी पूर्णिमा

संग्रह