दूर भवन मत जाओ मेरी मैया आज तुम्हारा पूजा का दिन है………

सपने मेने बृह्मा को देखा, वैद पढ़ा रहे मेरे अंगना,
संग में सरस्वती को भी लाये ज्ञान सीखा रहे मेरे अंगना,
दूर भवन मत जाओ मेरी मैया आज तुम्हारा पूजा का दिन है……..

सपने में मेने विष्णू को देखा, चक्रधर चला रहे मेरे अंगना,
संग में लक्समी को भी लाये, धन बरसा रहे मेरे अंगना,
दूर भवन मत जाओ मेरी मैया आज तुम्हारा पूजा का दिन है…….

सपने मैं मैंने भोले को देखा, डमरू बजा रहे मेरे अंगना,
संग में गौरा को भी लाये, यश बढ़ा रहे मेरे अंगना,
दूर भवन मत जाओ मेरी मैया आज तुम्हारा पूजा का दिन है……..

सपने मैं मैने रामा को देखा, धनुष चला रहे मेरे अंगना,

संग में सीता को भी लाये मर्यादा सीखा रहे मेरे अंगना,
दूर भवन मत जाओ मेरी मैया आज तुम्हारा पूजा का दिन है……..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी
मासिक शिवरात्रि

शुक्रवार, 02 अगस्त 2024

मासिक शिवरात्रि
हरियाली तीज

बुधवार, 07 अगस्त 2024

हरियाली तीज
नाग पंचमी

शुक्रवार, 09 अगस्त 2024

नाग पंचमी

संग्रह