अपने घर में जिसने भक्तों श्याम की ज्योत जगा ली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली………..

छोड़ के चिंता सारे जग की करले खाटू श्याम की भक्ति,
उसकी हार कभी ना होती ज्योत जहाँ श्री श्याम की जगती,
खाटू श्याम का जो भी दीवाना, उसकी रोज़ दिवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली……….

हारे का ये बने सहारा जिसने शीश झुकाया,
खाटू वाले श्याम धणी ने उसका भाग्य जगाया,
खाटू श्याम के दर पे जो आये, लौटा कभी ना खाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली……….

ज्योत जहाँ श्री श्याम की जगती, खुशियों की वहां झड़ियाँ लगती,
आंधी आये तूफां आये, नैया भव से पार है लगती,
सारी खुशियां श्याम के दर से पास्सी केसरी पा ली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली,
करेंगे खाटूश्याम रखवाली……….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

राम नवमी

बुधवार, 17 अप्रैल 2024

राम नवमी
कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी

संग्रह