मेरे श्याम तुम मेरे भगवान,
मुक्ति मेरी है तेरे ही हाथ,
आपकी महिमा है अपरमपार,
मुक्ति मेरी है तेरे ही हाथ,
मेरे श्याम तुम मेरे भगवान…….

संतो के महासंत, फकीरो में फकीरा,
हरो प्रभु मेरे कष्ट और पीड़ा,
मैं तो शरण में आयी आपके श्याम,
मुक्ति मेरी है तेरे ही हाथ,
मेरे श्याम तुम मेरे भगवान…….

राहों से भटकी हु, राह तो दिखाओ,
हे श्याम सुंदर मेरे, ज्ञान तो बताओ,
किरपा करके श्यामा, किरपा तो बरसाओ,
मुक्ति मेरी है तेरे ही हाथ,
मेरे श्याम तुम मेरे भगवान…….

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह