राम आ गए (भरत मिलाप)

धुन:-मेरी झोंपडी दे भाग आज जाग जाणगे।

फुल कलियाँ आकाश विचों बरस रहे ने ,राम आ गए।
राम नाम दे जयकार पये गज्ज रहे ने ,राम आ गए॥

सिया राम लखन बजरंग ने ,बजरंग ने।
सुग्रीव विभीषण संग ने -ओ संग ने॥
वेख वेख पुष्पयान सब नच्च रहे ने।
राम आ गए……

राम भरत दे होए मिलाप ने ,ओ मिलाप ने।
मिटे अवध दे दुःख संताप ने -संताप ने।।
दिन बनवास वाले आज कट्ट गए ने।
राम आ गए……

फल मेवे मिठाई दियां डालीयाँ -ओ डालीयाँ।
हर पासे आज हो रहियाँ दिवालियां -ओ दिवालियां।।
घर गलियां बाज़ार सब सज रहे ने।
राम आ गए……

सब लोक ने खुशियां मना रहे -ओ मना रहे।
गीत स्वागत दे सब आज गा रहे -ओ गा रहे।।
बाजे-गाजे मधुप आज बज रहे ने -राम आ गए।
राम आ गए…… ।

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह