भोले सावन में आना तुम झूम झूम के,
झूम झूम के भोले नाच नाच के,
तेरे मंदिर में जयकारा गूंजे बम बम भोले….

सिर का श्रंगार भोले जुड़े से होगा,
गंगा बहाना भोले झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

माथे का श्रंगार भोले चंदन से होगा,
चंदा चमकाना भोले झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

गले का श्रंगार मुंडमाला से होगा,
नाग लहराना भोले झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

हाथों का श्रंगार भोले त्रिशूल से होगा,
डमरु बजाना जरा झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

तन का श्रंगार बाघ अंबर से होगा,
बसमी रामाना होली झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

पैरों का सिंगार भोले घुंघरू से होगा,
नंदी पर बैठ आना भूले झूम झूम के,
भोले सावन में आना…..

आप भी आना साथ गौरा जी को लाना,
गणपत को लाना गोदी में बिठा के,
भोले सावन में आना…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह