बेलपत्र और गंगाजल से,
भक्ति भाव से पुजा कर ले,
तारेंगे भव से पार, हो चलो शिव के शरण मे,
गूँजे सदा जयकार हो भोले तेरे भवन मे…..

शिव का ध्यान करे मन निर्मल,
शिव भक्ति है पुण्यों यो का फल,
करते है भोले निवास, हो अपने भक्तो के मन मे,
गूँजे सदा जयकार हो भोले तेरे भवन मे……

संकट से शिव सदा उबारें,
दर्शन देकर भाग सवारे,
भोले की महिमा अपार, हो हम गाएं सब मिलकर,
गूँजे सदा जयकार हो भोले तेरे भवन मे…….

मधुर भजन बेला (Shweta Pandey)

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह