डम डम, डम डम डमरु बाजे,
डम डम, बाजे डमरु xll-ll

हो मेला भोले का,,, जय हो ll, लगे नीलकंठ द्वार,
हो कावड़िया बोल रहे,,, जय हो ll, जैकार,
हो मेला भोले का,,, जय हो ll, लगे नीलकंठ द्वार,
हो कावड़िया बोल रहे,,, जय हो ll, जैकार,
हो मेला भोले का xll,,,,,
डम डम, डम डम डमरु बाजे,
डम डम, बाजे डमरु xll-ll

हो जग का मालिक, भोला बाबा, रहता मस्त मलंग है ll
शिव के नाम का, मुझको भी यह, चढ़ गया देखो रंग है l
हो सोए भाग, जगा के मेरे* ll, करदे* बेडा पार,
हो मेला भोले का,,, जय हो ll, लगे नीलकंठ द्वार,,,,,,,F

तन पे भबूती, सोहे माथे, पे सोहणा सा चंदा ll
जटा बीच, गंग बहती सोहनी, गल में नाग भुजंगा l
हो तेरा रूप, बड़ा सोहना लगता* ll, हम हो* गए बलिहार,
हो मेला भोले का,,, जय हो ll, लगे नीलकंठ द्वार,,,,,,,F

कमल पूरी को, शिव के नाम का, हो गया आज सरूर ll
अपनी दया का, मेरे सर पे, रख दो हाथ जरूर l
हो दर्शन दे दो, भक्तों को* ll, यह कहता* राम अवतार,
हो मेला भोले का,,, जय हो ll, लगे नीलकंठ द्वार,,,,,,,F

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कामदा एकादशी

शुक्रवार, 19 अप्रैल 2024

कामदा एकादशी
महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी

संग्रह