ओ डमरू वाले,
जीवन है तेरे हवाले,
मैं पापी हो जाऊँ पावन,
चरणों में जो बिठा ले,
ओ डमरू वाले,
जीवन है तेरे हवाले……

दुनिया का सुख पाकर फुला,
नाम तुम्हारा मन से भुला,
दिन दुखी का दुःख ना जाना,
गाता रहा खुशियो का तराना,
आज वही कांटे चुभते है,
आज वही कांटे चुभते है,
कल जो प्यार से पाले,
ओ डमरू वालें,
जीवन है तेरे हवाले……

सर पे बिराजे तेरे गंगा,
कर दे मेले मन को चंगा,
दया दृष्टि हम पर भी कर दो,
भाव भक्ति इस मन में भरदो,
इस जीवन में ज्योत नहीं है,
दीखते नहीं है उजाले,
दीखते नहीं है उजाले,
ओ डमरू वालें,
जीवन है तेरे हवाले……

जनम जनम का अपना नाता,
तू लख्खा का भाग्य विधाता,
मैं हूँ भिखारी और तू दाता,
तू ही पिता बाबा तू ही माता,
पथ से भटक बेधड़क गया था,
पथ से भटक बेधड़क गया था,
तुम बिन कोन संभाले,
ओ डमरू वालें,
जीवन है तेरे हवाले……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

नारद जयंती

शुक्रवार, 24 मई 2024

नारद जयंती
संकष्टी चतुर्थी

रविवार, 26 मई 2024

संकष्टी चतुर्थी
अपरा एकादशी

रविवार, 02 जून 2024

अपरा एकादशी
मासिक शिवरात्रि

मंगलवार, 04 जून 2024

मासिक शिवरात्रि
प्रदोष व्रत

मंगलवार, 04 जून 2024

प्रदोष व्रत
शनि जयंती

गुरूवार, 06 जून 2024

शनि जयंती

संग्रह