पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा,
पंखिड़ा तु उड़ ने जाना पावागढ़ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
म्हारी महाकाली से जईने कीजो गरबो रमे रे….

म्हारा गाँव का सुतार भाई बेगा आवो रे,
म्हारी महाकाली के लिये सुंदर बाजोट लाओ रे,
अच्छा लाओ, सुंदर लाओ, जल्दी आओ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा….

म्हारा गाँव का बजाज भाई जल्दी आवो रे
म्हारी महाकाली के लिये सुंदर चुँदडी लाओ रे
अच्छी लाओ, सुंदर लाओ, जल्दी आओ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा….

म्हारा गाँव का लीलहार भाई बेगा आवो रे
म्हारी महाकाली केलिये सुंदर चुड़िया लाओ रे
अच्छी लाओ, सुंदर लाओ, जल्दी आओ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा….

म्हारा गाँव का सुनार भाई जल्दी आवो रे
म्हारी महाकाली के लिये सुंदर पायल लाओ रे
अच्छी लाओ, सुंदर लाओ, जल्दी आओ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा….

म्हारा गाँव का कुम्हार भाई बेगा आवो रे
म्हारी महाकाली के लिये सुंदर गरबा लाओ रे
अच्छा लाओ, सुंदर लाओ, जल्दी आओ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा….

पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा,
पंखिड़ा तु उड़ ने जाना पावागढ़ रे,
महाकाली से मिलके कहना गरबा खेलेंगे,
म्हारी महाकाली से जईने कीजो गरबो रमे रे,
पंखिड़ा ओ पंखिड़ा, पंखिड़ा ओ पंखिड़ा ||

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह