हरि का भजन करो हरि है तुम्हारा |
हरि के भजन बिन, नहीं गुजारा ||

हरि नाम से तेरा काम बनेगा |
हरि नाम ही तेरे साथ चलेगा ||
हरि नाम लेने वाला,
हरि का है प्यारा ||

कोई काहे राधेश्याम, कोई काहे सीताराम |
कोई गिरिधर गोपाल, कोई राधामाधव लाल |
वोही हरि दीन बंधू, वोही करी करुना सिन्धु, नमो बारम्बारा ||

सुख़ दुःख भोगे जाओ, लेखा सब मिटाते जाओ |
हरि गुण जाओ, हरि को रिझाते जाओ |
वोही हरि दीन बंधू, वोही करी करुना सिन्धु, सब का है प्यारा ||

दीनो पर दया करो, बने तो सेवा भी करो |
मोह सब दूर करो, प्रेम हरि ही से करो |
यही भक्ति यही योग, यही ज्ञान सारा ||

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह