मन भजन कर हरी नाम का ,
हरी नाम बिन प्रभु नाम बिन जीवन नही किसी काम का,

ये नाम ही सुख सार हा ये नाम ही धार है,
यह नाम ही आधार है,ये नाम रस धर है,
इस नाम के ही भजन से होनी नैया पार है,
मन भजन कर हरी नाम का ……

ये नाम ही सचाई है ये नाम ही सुख दाई है,
इस नाम से तू प्यार कर इस नाम का ही विचार कर,
इस नाम के ही जपान से होना वेडा पार है,
मन भजन कर हरी नाम का …..

इस नाम का तू शरवन कर इस नाम में ही रमन कर,
इस नाम रस का पान कर इस नाम का ही गान कर,
इस नाम के ही मनन से होना तेरा उधार है……
मन भजन कर हरी नाम का ………

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह