पानी में लहरें ले रही ज्योत ज्वाला की……

नंगे नंगे पैरो मैया पांडव आये,
पांडव आये मैया भवन बनाये,
तूने उनका भी मान बढ़ाया री मैया ज्योत ज्वाला की,
पानी में लहरें ले रही ज्योत ज्वाला की……

नंगे नंगे पैरो मैया अबकर आया,
हो अकबर आया मैया छत्र चढ़ाया,
तूने उनकी भी लाज बचायी ओ मैया ज्योत ज्वाला की,
पानी में लहरें ले रही ज्योत ज्वाला की……

नंगे नंगे पैरो मैया ध्यानु आया,
ध्यानु आया मैया शीश चढ़ाया,
तूने उनकी भी लाज बचायी ओ मैया ज्योत ज्वाला की,
पानी में लहरें ले रही ज्योत ज्वाला की……

नंगे नंगे पैरो मैया भक्त आये,
भक्त भी आये मैया ज्योत जलाये,
तूने उनको भी दर्श दिखाया ओ मैया ज्योत ज्वाला की,
पानी में लहरें ले रही ज्योत ज्वाला की……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

महावीर जन्म कल्याणक

रविवार, 21 अप्रैल 2024

महावीर जन्म कल्याणक
हनुमान जयंती

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

हनुमान जयंती
चैत्र पूर्णिमा

मंगलवार, 23 अप्रैल 2024

चैत्र पूर्णिमा
संकष्टी चतुर्थी

शनिवार, 27 अप्रैल 2024

संकष्टी चतुर्थी
वरुथिनी एकादशी

शनिवार, 04 मई 2024

वरुथिनी एकादशी
प्रदोष व्रत

रविवार, 05 मई 2024

प्रदोष व्रत

संग्रह