बड़ा सुंदर सजा है दरबार गजानन आ जाओ……

सबसे पहले तुम्हें मनाएँ,
तेरे महिमा पहले गाएँ,
जल्दी पधारो सरकार गजानन आ जाओ……

स्वर्ग से देवी देवता आए,
सारे मिलकर तुम्हें मनाएँ,
अब तो पधारो सरकार गाजना आ जाओ….

रिद्धि सिद्धि साथ में लाओ,
शुभ और लाभ का दरस कराओ,
कर दो हमारा बेड़ा पार गजानन आ जाओ…..

छप्पन भोग का थाल सजा है,
लड्डू का भंडार लगा है,
भोग लगाओ सरकार गजानन आ जाओ…..

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि

संग्रह