नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
ज्योत जगा के शीश नवां के,
जयकारे नु गजणा भक्तो नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा…….

नच नच के जेहड़े माँ नु मनांदे मगींआ मुरादा माँ कोलो पादें,
भक्त बजांदे ढोल मंजीरे ओ छैणे दी छणकार,
भक्तो अज नचणा नचणा माई दे द्वार,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वारे भक्तो अज नचणा……

जागे माँ दे भक्त रचाँदे नचदे माँ दीयां भेटा गाँदे,
जिथे होन्दी कृपा माँ दी,
भर देंदी भण्डार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा……

तू दाती भाग्य विधाता जगजननी जगदम्बा माता,
करदी मुरादा पूरीया सब दी मगंदा फुल ससांर,
भक्तो अज नचणा मै,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा…….

मैया तेरा रूप निराला दास तेरा है बङा मतवाला,
झूम झूम के भेटां गाऊंदा बोले जय जय कार,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
ज्योत जगा के शीश नवां के,
जयकारे नु गजणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा,
नचणा माई दे द्वार भक्तो अज नचणा……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह