गणपति देवा करूं तेरी सेवा,
करूं तेरी सेवा करूं तेरी सेवा,
गौरा के लाला करूं तेरी सेवा॥

किसके तो तुम लाल कहांए,
किसने गोद खिलाए गौरी लाला,
गणपति देवा करूं तेरी सेवा॥

भोले शंकर के लाल कहांए,
गौरा ने गोद खिलाए गौरी लाला,
गणपति देवा करूं तेरी सेवा,
गौरा के लाला करूं तेरी सेवा॥

रिद्धि सिद्धि के तुम हो दाता,
सबसे पहले करूं तेरी पूजा,
गणपति देवा करूं तेरी सेवा,
गौरा के लाला करूं तेरी सेवा॥

धूप दीप से तुम्हे मनाए,
लड्डू का भोग लगाएं गौरी लाला,
गणपति देवा करूं तेरी सेवा,
गौरा के लाला करूं तेरी सेवा॥

कीर्तन की आके शोभा बढ़ाना,
सत्संग की आके शोभा बढ़ाना,
सबको दरस दिखाओ गोरी लाल
गणपति देवा करूं तेरी सेवा,
गौरा के लाला करूं तेरी सेवा॥

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

गायत्री जयंती

सोमवार, 17 जून 2024

गायत्री जयंती
निर्जला एकादशी

मंगलवार, 18 जून 2024

निर्जला एकादशी
ज्येष्ठ पूर्णिमा

शनिवार, 22 जून 2024

ज्येष्ठ पूर्णिमा
संत कबीर दास जयंती

शनिवार, 22 जून 2024

संत कबीर दास जयंती
संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी

संग्रह