गणराया गणराया विघन हरो गणराया
तेरे द्वारे जो आया तूने उस को है तारा
तेरी लीला का पार नही पाया
गणराया गणराया विघन हरो गणराया

मन मन्दिर में तुझको बिठा के नैनो में तुझको बसा के
तेरा पूजन करू मैं देवा तेरी छवि बना के
गणराया गणराया विघन हरो गणराया

इक दंत महाकाय ये गनेशा तेरी दया हो हम पर
देवो में तुम देव निराले हे सूत गोरी शंकर
गणराया गणराया विघन हरो गणराया

हो सबकी सुनी है मेरी भी सुन लो
हे विधानेश्वर स्वामी
मैं क्या मांगू तुम सब जानो तुम प्रभु अंतर यामी
गणराया गणराया विघन हरो गणराया

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

कोकिला व्रत

रविवार, 21 जुलाई 2024

कोकिला व्रत
गुरु पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

गुरु पूर्णिमा
आषाढ़ पूर्णिमा

रविवार, 21 जुलाई 2024

आषाढ़ पूर्णिमा
मंगला गौरी व्रत

मंगलवार, 23 जुलाई 2024

मंगला गौरी व्रत
संकष्टी चतुर्थी

बुधवार, 24 जुलाई 2024

संकष्टी चतुर्थी
कामिका एकादशी

बुधवार, 31 जुलाई 2024

कामिका एकादशी

संग्रह