तू हर जर्रे जर्रे में रोशन रहता है,
तेरा सब पे, कर्म भी रहता है,
पड़ जाती है मेरी झोली छोटी,
मेरा गणेशा जब देता है।

तेरा दर तो हक़ीक़त में,
ख़ुशियों का ख़जाना है,
तेरा दर तो हकीकत में,
खुशियों का खजाना है,
हे लम्बोदर गणराजा,
तेरा जग तो निराला है।
तेरा दर तो हक़ीक़त में,
ख़ुशियों का ख़जाना है॥

किस किस से बताऊँ मैं,
क्या तेरा मेरा नाता है,
तू रहमत का दरिया है,
तू मेरा किनारा है,
तेरा दर तो हकीकत में,
खुशियों का खजाना है॥

बिगड़ी हुई तकदीरे,
तूने पल में सँवारी हैं,
गणराजा तेरी करुणा ने,
हम सबको ही पाला है,
तेरा दर तो हकीकत में,
खुशियों का खजाना है॥

मैं कैसे करूँ शुक्रिया,
इतनी मुझमें ताकत नहीं,
तूने लाज रखी तब तब,
मैंने जब जब पुकारा है,
तेरा दर तो हक़ीक़त में,
ख़ुशियों का ख़जाना है,
तेरा दर तो हकीकत में,
खुशियों का खजाना है,
हे लम्बोदर गणराजा,
तेरा जग तो निराला है।
तेरा दर तो हक़ीक़त में,
ख़ुशियों का ख़जाना है……

Comments

संबंधित लेख

आगामी उपवास और त्यौहार

संकष्टी चतुर्थी

मंगलवार, 25 जून 2024

संकष्टी चतुर्थी
योगिनी एकादशी

मंगलवार, 02 जुलाई 2024

योगिनी एकादशी
मासिक शिवरात्रि

गुरूवार, 04 जुलाई 2024

मासिक शिवरात्रि
जगन्नाथ रथ यात्रा

रविवार, 07 जुलाई 2024

जगन्नाथ रथ यात्रा
गौरी व्रत

गुरूवार, 11 जुलाई 2024

गौरी व्रत
देवशयनी एकादशी

बुधवार, 17 जुलाई 2024

देवशयनी एकादशी

संग्रह